धर्म पथ के राहगीरों के सहयोगी बने धर्म प्रेमी

कावड़ यात्री व रामदेवरा जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए हर 1 किलोमीटर पर भंडारे का हो रहा है आयोजन

धर्म पथ के राहगीरों के सहयोगी बने धर्म प्रेमी

कावड़ यात्री व रामदेवरा जाने वाले श्रद्धालुओं के लिए हर 1 किलोमीटर पर भंडारे का हो रहा है आयोजन, ग्राम वासियों के सहयोग से निशुल्क भंडारों का आयोजन

उन्हेल। 700 किलोमीटर की पैदल यात्रा कर रहे रामदेवरा के भक्तों एवं बाबा महाकाल का जलाभिषेक के लिए निकल रही कावड़ यात्रियों के लिए जगह जगह भंडारे का आयोजन हो रहा है वही भंडारे के आयोजको द्वारा भक्तों को रोक रोक कर आग्रह कर नाश्ता एवं भोजन का अनुरोध करते देखे जा रहे हैं। उज्जैन से उन्हेल के बीच में करीब  7 भंडारे चल रहे हैं वही ग्राम रूपा खेड़ी में बाल हनुमान मंदिर पर 24 घंटे ही पैदल रामदेवरा जाने वाले भक्तों की सेवा में समिति सदस्य लगे हुए हैं यहां की विशेषता यह है कि यह 17 वर्षों से सतत सेवा कार्य में लगे हुए हैं यहां पर यात्रियों के लिए चाय नाश्ते के अलावा जिस का उपवास होता है उसके लिए फरियाल की व्यवस्था भी समिति सदस्य द्वारा की जाती है समिति के सदस्य ने बताया कि भंडारे का आयोजन 17 वर्षों से निरंतर जारी है इसमें आसपास के ग्रामीणों के अलावा बाहर से आए अन्य भक्तों द्वारा भी आर्थिक व सामग्री की व्यवस्था की जाती है । वही इस बार राठोर परिवार द्वारा भी भक्तों को चाय नाश्ते परिवार सदस्यों द्वारा आग्रह कर दिया जा रहा है। उन्हेंल चौपाटी पर हनुमान मंदिर पर भी भक्तों द्वारा चाय नाश्ता दिया जा रहा।नवादा चौपाटी पर ग्राम चावण्ड के ग्रामीणों के सहयोग से निरंतर कई वर्षों से भंडारे का आयोजन किया जा रहा है इसमें समिति के सभी सदस्य 24 घंटे घर बार छोड़कर भक्तों की सेवा में लगे रहते हैं यहां पैदल यात्रियों के साथ ही वाहनों से रामदेवरा जी के सफर करने वाले यात्रियों को समिति के सदस्यों द्वारा रोककर अनुरोध कर चाय नाश्ता एवं भोजन करने का अनुरोध करते हैं यह वही भक्तगण चाय नाश्ता या भोजन लेकर अपने गंतव्य स्थान की ओर प्रस्थान करते हैं यह सिलसिला बाबा रामदेव के तीर्थ स्थल तक हर 1 किलोमीटर पर भक्तों द्वारा भंडारों का आयोजन किया जा रहा है।